इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय | Boost Immunity Naturally in Hindi

मजबूत इम्युनिटी हमें रोगों से लड़ने में मदत करती है जिसके कारण हम आसानी से बीमार नहीं होते हैं। इसलिए चलिए इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपायों के बारे में जानते हैं ताकि हम अपने समग्र स्वास्थ्य को बढ़ा सकें।

Author:

Anshika Sharma

Published on:

Boost Immunity Naturally – बाहर से मजबूत दिखने वाला व्यक्ति, कई बार अंदर से इतना कमजोर होता है की उसको होने वाली छोटी-मोटी बीमारियां व चोट आदि, जल्दी से ठीक नही होती है, जिस कारण से वह लंबे समय तक किसी न किसी शारीरिक परेशानी से घिरा रहता है।

आखिर बीमारियों व चोटों का जल्दी से ठीक न होने के पीछे का कारण क्या होता है? – ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे शरीर के पहरेदार, यानी हमारी इम्यूनिटी कमजोर हो चुकी होती है। जिस वजह से हमारे शरीर को रोगों से लड़ने में बहुत मेहनत करना पड़ता है।

अगर आप उन लोगों में से हैं जिनको कोई न कोई शारीरिक परेशानियां लगी ही रहती हैं। तो यह पोस्ट आपके लिए ही है। तो चलिए इस ब्लॉग पोस्ट के जरिए यह समझते हैं की इम्यूनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) क्या होती है? यह काम कैसे करती है? और इसको मजबूत करने का प्राकृतिक तरीका क्या है?

इम्युनिटी क्या होती है?

प्रतिरक्षा प्रणाली (immunty) शरीर की वह योग्यता या क्षमता होती है, जो बैक्टीरिया, वायरस, फंगस और परजीवी जैसे हानिकारक अकर्मणकारियों से हमारे शरीर को संरक्षण प्रदान करती है। 

जाने – दिमाग तेज कैसे करें।

इम्यून सीस्टम क्या होता है?

एक मजबूत इम्यूनिटी का होना इस बात पर निर्भर करता है की हमारा इम्मून सिस्टम कितना मजबूत है। इम्यून सिस्टम कोशिकाओं, उत्तकों और ऑर्गन का ही एक समूह होता हैं जो सफेद रक्त कोशिकाएं, एंटीबॉडीज़, लिम्फाइड ऊतक (जैसे थाइमस, अस्ति मज्जा, तिल्ली, लसीका) और लिम्फाटिक सिस्टम आदि से मिलकर काम करता हैं। 

इम्यूनिटी काम कैसे करती है?

इम्यून सिस्टम का प्राथमिक कार्य संक्रमणों की पहचान करना और उन्हें नष्ट करना, एंटीबॉडीज़ का उत्पादन करना, इम्यून कोशिकाओं को सक्रिय करना और इम्यून प्रतिक्रियाओं को समन्वयित करना होता है।

पहले प्रतिरक्षा प्रणाली शरीर की अपनी कोशिकाओं और बाहरी आक्रमणकारियों जैसे बैक्टीरिया, वायरस आदि के बीच अंतर करता है या पहचान करता है। इसके बाद यह सफेद रक्त कोशिकाओं, एंटीबॉडी, लसीका प्रणाली, प्लीहा, थाइमस, और अस्थि मज्जा का उपयोग करके इन आक्रमणकारियों पर हमला करता है और नष्ट कर देता है।

जाने – बालों को झड़ना क्यों नहीं रुकता?

प्राकृतिक रूप से इम्युनटी को कैसे बढ़ाएं?

1. अच्छी नीद लें:-

एक अच्छी और गहरी नीद नहीं मिलने के कारण, व्यक्ति को ना केवल कमजोर इम्यून का सामना करना पड़ सकता है बल्कि अन्य शारीरिक परेशानियां जैसे – दिमाग का कमजोर होना, मानसिक स्वास्थ्य पर असर, हार्मोनल असंतुलन, जैसी कई तरह की बीमारियां (ब्लड प्रेसर, मधुमेह, मोटापा) आदि का भी सामना करना पड़ सकता है।

जब हम गहरी नीद में होते है तो हमारा शरीर मरम्मत की अवस्था में चला जाता है और शरीर में उत्पन सभी दोषों को ठीक करता है। इसलिए 7-8 घंटे की अच्छी नींद लेना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है।

2. संतुलित आहार खाएं:-

 हम जो भी खाते हैं शरीर पर उसका सीधा असर पहुंचता है। इसलिए असंतुलित भोजन जैसे – प्रोसेस्ड फ़ूड (ब्रेड, बिस्कुट, चिप्स, नमकीन), अधिक तला हुआ, अधिक शक्कर, अधिक तेलीय खाद्य पदार्थ आदि हमारे इम्युनिटी को कमजोर बनाने के साथ-साथ अन्य कई तरह की शारीरिक परेशानियों का कारण बनते हैं।

इसलिए सेहतमंद इम्युनिटी के लिए अपने आहार में फल, सब्जी, हरी पत्तेदार सब्जियां, सबूत अनाज, हेल्दी प्रोटीन, और हेल्दी फैट शामिल करें, ये शरीर को आवश्यक विटामिन, खनिज, पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करते हैं जो इम्यूनिटी को स्वस्थ रखते हैं।

3. नियमित व्यायाम करें:-

नियमित व्यायाम व शारीरिक गतिविधि ना करना हमारे इम्युनिटी के लिए बहुत नुकसानदायक है इसके साथ ही हृदय स्वास्थ, मांसपेशियों में कमजोरी, कमजोर हड्डी, स्टेमिना में कमी आदि अन्य कई बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है।

इसलिए अपने शारीरिक जरूरत के अनुसार प्रतिदिन व्यायाम जरूर करें और कम से कम कुछ किलोमीटर पैदल या साइकिल जरूर चलाए। यह आपके इम्यूनिटी को स्वस्थ रखेगा।

4. तनाव ना लें:-

लम्बे समय तक तनाव में होना, शरीर पर बहुत नकारात्मक प्रभाव डालता है, और यह कई बीमारियों का कारण भी बन सकता है जैसे – मानसिक बीमारियां, माइग्रेन, हृदय संबंधी बीमारियां, अन्य कई बीमारियों के अलावा, यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्युनिटी) को भी कमजोर कर सकता है जिससे आप संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकते हैं।  

इसलिए यह बहुत जरूरी हो जाता है की तनाव को मैनेज किया जाए और इसको लम्बे समय तक होने से रोका जाए। तनाव को कम करने के लिए गहरी सांस लेना, ध्यान, योग, अधिक सोसल होना, और यैसी चीज़ें करना जो आपको खुशी दें, काफी कारगर साबित हो सकती है। अधिक तनाव होने पर डॉक्टर से संपर्क भी कर सकते हैं।

5. नशीले पदार्थो के सेवन से बचें:-

नशीले पदार्थ दिमाग के फंग्शन को धीमा कर देते हैं, जो आगे चलकर दिमाग की कमजोरी के रूप में दिखाई दे सकता है, इसके अलावा शरीर में हार्मोनल असंतुलन, हृदय संबंधी बीमारियां, श्वसन संबंधी बीमारियां और हमारे तंत्रिका प्रणाली को भी प्रभावित कर सकते है। अन्य कई बीमारियों के साथ यह शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए किसी भी प्रकार के नशीले पदार्थ के सेवन पर तुरंत रोक लगाना चाहिए। 

6. पर्याप्त जल पिएं:-

अपने शरीर की आवश्यकता के अनुसार प्रयाप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए, क्योंकि यह हमारी त्वचा को हाइड्रेटेड रखता है, पाचन क्रिया बेहतर करता है, शरीर का तापमान संतुलित रखता है, शारीरिक गंदगी को बाहर निकालता है और शरीर की इम्यूनिटी को भी बेहतर रखने में मदत करता है। इसलिए दिन में कम से कम 4 से 5 लीटर पानी पीना का लक्ष्य रखें और पिएं।

7. स्वच्छता बनाए रखें:-

 एक स्वस्थ इम्यूनिटी के लिए, शारीरिक स्वक्षता के साथ-साथ अपने आस पास भी साफ सफाई रखना बहुत जरूरी है क्योंकि ऐसा करने से हम संक्रमण के खतरे से बच जाते हैं। 

इसलिए जितना हो सके साफ सफाई रखे, अपने शरीर को धोएं, विशेष कर खाना खाने से पहले अपने हाथों को जरूर धोएं, अपने मुंह व दातों तक साफ सफाई बना कर रखें। ऐसा करने से संक्रमण के जोखिम को काफी हद तक कम किया जा सकता है। जिससे निश्चित ही हमारे इम्युनिटी को सहायता प्राप्त होती है।

8. प्रदूषण से बचें:-

वायु प्रदूषण का हमारे सेहत पर बहुत ही बुरा प्रभाव पड़ता है। जो अनगिनत परेशानियों का कारण भी बनाता है जैसे श्वांस प्रणाली की समस्याएं, एलर्जी, त्वचा संबंधी दिक्कतें, और यह कैंसर के खतरे को बढ़ा सकता है। इसके अलावा यह हमारे तंत्रिका तंत्र और हमारे इम्यून सिस्टम को भी कमजोर कर सकता है, और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता हो खत्म कर सकता है।

इसलिए प्रदूषण से बचाने के लिए सभी प्रोटेक्टिव मेजर को अपना चाहिए जैसे मास्क पहनना, बाहर निकलते समय शरीर को ढकना, ट्रैफिक में फसने से बचना आदि।

निष्कर्ष

रोगों से लड़ने और घावों को जल्दी भरने के लिए एक अच्छी इम्युनिटी की जरूरत होती है, इम्यूनिटी हमारे शरीर की पहरेदार होती है जो हमे बाहरी आक्रमणकारियों से बचाती है। लेकिन अक्सर गलत जीवनशैली की वजह से हम अपने इम्युनिटी को कमजोर बना लेते हैं, जिस कारण से हमें कई रोगों और शारीरिक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। 

इन शारीरिक कठिनाइयों से बच निकलने के लिए हमें फिर से अपने इम्युनिटी को प्राकृतिक रूप से मजबूत बनाने की जरूरत होती है। जिसके लिए हम अच्छा खान पान, अच्छा रहन-सहन, अच्छी नीद, नियमित व्यायाम करना आदि चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Leave a Comment